वाराणसी में मिला 4000 साल पुराना शिल्प ग्राम, 1800 साल पुरानी लिपि ,Latest News India

वाराणसी में मिला 4000 साल पुराना शिल्प ग्राम, 1800 साल पुरानी लिपि

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय(बीएचयू) की एक टीम ने वाराणसी में 4000 साल पुराने शिल्प ग्राम का पता लगाया है। विशेषज्ञों का कहना है कि यह प्राचीन ग्रंथों में दर्ज शिल्प ग्रामों में से एक है।

वाराणसी में मिला 4000 साल पुराना शिल्प ग्राम, Latest News in Hindi , latest News India

वाराणसी में मिला 4000 साल पुराना शिल्प ग्राम



बनारस हिंदू विश्वविद्यालय(बीएचयू) की एक टीम ने वाराणसी में 4000 साल पुराने शिल्प ग्राम का पता लगाया है। विशेषज्ञों का कहना है कि यह प्राचीन ग्रंथों में दर्ज शिल्प ग्रामों में से एक है।

वाराणसी से 13 किलोमीटर दूर बभानियाव गांव में प्रारंभिक सर्वेक्षण करने वाले विश्वविद्यालय के प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग ने कहा कि उसे एक ऐसी बस्ती के निशान मिले हैं, जिसका वाराणसी से संबंधित साहित्य में जिक्र मिलता है।

Latest News India

बीएचयू के प्राचीन इतिहास विभाग के प्रोफेसर एके दुबे ने बताया कि बीएचयू से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बभनियाव गांव में टीम पहुंची तो वहां मंदिर के अवशेष मिले हैं। साथ ही 1800 साल पुरानी लिपि की जानकारी भी टीम को मिली है। अभी उत्खनन का कार्य चल रहा है। बुधवार से भारतीय पुरातत्व विभाग के सहयोग से उत्खनन कराया जाएगा। यहां शिल्पग्राम का पता चला है।


उन्होंने कहा कि वाराणसी के पास होने के कारण इसका खास महत्व है। पौराणिक कथाओं के अनुसार वाराणसी को 5,000 साल पहले हिंदू देवता भगवान शिव ने स्थापित किया था, हालांकि आधुनिक विद्वानों का मानना है कि यह लगभग 3,000 साल पुराना है।


दुबे ने कहा कि बाभनियाव स्थल वाराणसी का एक छोटा उप-केंद्र हो सकता है, जो एक शहरी शहर के रूप में विकसित हुआ है।

Post a comment

0 Comments