उत्तर प्रदेश के 15 जिले के हॉट स्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील

उत्तर प्रदेश के 15 जिले के हॉट स्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील 

यूपी में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से सील करने का निर्णय लिया है।
उत्तर प्रदेश के 15 जिले के हॉट स्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील
उत्तर प्रदेश के 15 जिले के हॉट स्पॉट आज रात 12 बजे से होंगे सील 

वहीं प्रदेश में कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 343 हो चुकी है। जिनमें बुलंदशहर में तीन, आगरा-वाराणसी-मेरठ में दो-दो, बागपत में एक, सहारनपुर में एक संक्रमित मिला है .

उत्तर प्रदेश में कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए योगी सरकार ने बुधवार को अहम फैसला लिया है. सरकार ने 15 जिलों के हॉटस्पॉट इलाकों को सील करने का निर्णय लिया है. हॉटस्पॉट वो क्षेत्र हैं जो कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं 

यह आदेश आज रात 12 बजे से लागू हो जाएगा. यानी 9 अप्रैल से 15 अप्रैल सुबह तक 15 जिलों के हॉटस्पॉट इलाकों में ये पाबंदी जारी रहेगी. इन इलाकों में जरूरी सामानों की होम डिलिवरी होगी और लोगों की किसी भी प्रकार की छूट नहीं मिलेगी. यानी लॉकडाउन में जो खाने-पीने या दूसरी जरूरी चीजें लाने की मोहलत थी, वो भी इस दौरान नहीं मिलेगी. किसी भी जरूरत की चीज के लिए सरकार से संपर्क करना होगा और सामान की होम डिलीवरी की जाएगी .
यूपी सरकार ने जिन 15 जिलों के हॉटस्पॉट एरिया को पूरी तरह से सील किया है, वह हैं- 

वाराणसी, लखनऊ, महराजगंज, बस्ती, बुलंदशहर, नोएडा, गाज़ियाबाद, शामली, कानपुर, सीतापुर, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, फ़िरोज़ाबाद और बरेली।


आगरा में 22 हॉटस्पॉट हैं. नोएडा में 12, कानपुर में 12, वाराणसी में 4 हॉटस्पॉट मिले हैं. शामली में तीन और मेरठ में 7 तो वहीं बुलंदशहर में 3 हॉटस्पॉट मिले हैं. इसके अलावा लखनऊ में भी 12 हॉटस्पॉट हैं. गाजियाबाद में 13 हॉटस्पॉट एरिया हैं.

सील इलाकों में होगी जरूरी सामानों की होम डिलीवरी

सील किए गए इलाकों मे किसी भी तरह के काम के लिए लोगों को बाहर निकलने की मनाही होगी. बेहद जरूरी चीजों की आपूर्ति के लिए भी सिर्फ होम डिलीवरी होगी. ऑनलाइन ऑर्डर दे सकते हैं. सरकार एक सेंट्रलाइज्ड कॉल सेंटर बनाएगी, जहां पर भी जरूरी चीजों की आपूर्ति के लिए लोग ऑर्डर दे सकेंगे.
इन सभी पंद्रह जिलों में दिए गए लॉकडाउन पासे की फिर से समीक्षा होगी और जिनके लिये बेहद जरूरी होगा उन्हीं को पास दिए जाएंगे. सब्जी मंडियां, फल मंडियां और भीड़भाड़ वाली किसी भी गतिविधि पर पूरे जिले में प्रतिबंध होगा. सील इलाके के बाहर आने-जाने पर रोक के दौरान दोषी व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा. प्रभावित इलाके को सील करके हर घर का सैनिटाइजेशन किया जाएगा.



कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने अधिक संक्रमितों जिलों को बुधवार रात 12 बजे से 13 अप्रैल तक सील करने का फैसला किया है। इसमें भी उन क्षेत्रों में किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं रहेगी जहां पर संक्रमण अधिक है। सभी जगह पर कर्फ्यू जैसे हालात रहेंगे। कोई भी घर बाहर नहीं निकल सकेगा। घर पर ही आवश्यक वस्तुएं और दवाइयां पहुंचाई जाएंगी। इसके साथ ही राज्य में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। मास्क नहीं पहनने पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।उत्तर प्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलते हुए देख अब योगी आदित्यनाथ सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए उत्तर प्रदेश के 15 जिलों के हॉट स्‍पॉट इलाकों को सील करने का फैसला लिया है। सील की यह प्रक्रिया आज रात यानी बुधवार रात 12 बजे के बाद लागू होगी। अब उत्तर प्रदेश में कोई भी 30 अप्रैल तक बिना मास्क के बाहर नहीं निकल सकेगा। 31 मई तक कोई बैंक किसी किसान को नोटिस नहीं जारी करेगा।
इस दौरान किसी भी वाहन को जिलों में बिना पास के प्रवेश नहीं मिलेगा। यह आदेश 13 अप्रैल की रात 12 बजे तक लागू रहेगा। यानी लगातार चार दिन। 15 जिलों लखनऊ, आगरा और गाजियाबाद जैसे बड़े जिले भी शामिल हैं। इसी के साथ यह भी आदेश दिया गया है कि 30 अप्रैल तक कोई भी बिना मास्क लगाए अपने घरों से बाहर नहीं निकल सकेगा।

कोरोना काल में यूपी के 15 जिलों के हाटस्पॉट अब पूरी तरह से बंद रहेंगे

आगरा में 22 हॉटस्पॉट, गाजियाबाद में 13, गौतमबुद्धनगर(नोएडा) में 12, कानपुर में 12, वाराणसी में 4, शामली में 3, मेरठ में 7, बरेली में 1, बुलंदशहर में 3, बस्ती में 3, फीरोजाबाद में 3, सहारनपुर में 4, महाराजगंज में 4, सीतापुर में 1 और लखनऊ में 8 बड़े और 4 छोटे हॉटस्पॉट चिह्नित किये गए हैं।
  • सीलिंग किये गए इलाकों मे किसी भी तरह के काम के लिये लोगों को बाहर निकलने की मनाही होगी।
  • -बेहद जरूरी चीजों की आपूर्ति के लिये भी सिर्फ होम डिलीवरी होगी, ऑनलाइन ऑर्डर दे सकते हैं।
  • -सरकार एक सेंट्रलाइज्ड कॉल सेंटर बनायेगी, जहां पर भी जरूरी चीजों की आपूर्ति के लिये ऑर्डर दे सकते हैं।
  • -इन सभी पंद्रह जिलों मे दिये गये लॉकडाउन पासेज की फिर से समीक्षा होगी और जिनके लिये बेहद जरूरी होगा उन्हीं को पास दिये जायेंगे।
  • सब्जी मंडियां, फल मंडियां और भीड़भाड़ वाली किसी भी गतिविधि पर पूरे जिले मे प्रतिबंध होगा।
  • -सील इलाके के बाहर आने जाने पर रोक के दौरान दोषी व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा
  • -प्रभावित इलाके को सील करके हर घर का सैनिटाइजेशन किया जायेगा।
पूरी तरह सील नहीं किया जाएगा

मुख्य सचिव आरके तिवारी का कहना है कि 15 जिलों को पूरी तरह सील नहीं किया जाएगा। जहां संक्रमित मरीज ज्यादा हैं, उन्हें हॉट स्पॉट के रूप में चिह्नित कर उन्हें सील किया जाएगा। हर दिन समीक्षा होगी। 14 अप्रैल को सम्पूर्ण लॉकडाउन पर फैसला होने के बाद तय होगा कि सील की अवधि बढ़ेगी या नहीं। सरकार कोई भी अवसर लेना नहीं चाहती। हमने संक्रमितों की संख्या देखने के बाद एहतियातन यह सोचा है। लॉक डाउन में लापरवाही बरतने की रिपोर्ट के बाद ये फैसला लिया गया है। इसी को देखते हुए सरकार ने पास रद किये थे। लोग खाना बांटने के नाम पर सड़कों पर निकल रहे थे। कल रात नोएडा के स्लम एरिया में संदिग्ध पकड़े जाने के बाद सरकार को यह लगा कि मामला बिगड़ने लगा है। हाट स्पाट वाले क्षेत्र के निवासियों को जरूरी सामान होम डिलीवरी से दिया जाएगा।



बुलंदशहर के ये तीन इलाके रहेंगे सील
वीरखेड़ा गांव सिंकदराबाद, जनता इंटर कॉलेज जहांगीराबाद, रुकनसराय बुलंदशहर।
अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि 100 प्रतिशत लॉकडाउन उन्हीं जगहों पर किया जाएगा जो हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित हुए हैं। बाकी जगहों पर उसी तरह का लॉकडउन रहेगा जैसा पहले से जारी है। किसी भी प्रकार से परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। 
शामली में 3, मेरठ 7, बरेली 1, बुलंदशहर 3, फिरोजाबाद 4, महाराजगंज 4, सीतापुर 1, लखनऊ में 11 और बस्ती के 3 इलाके हॉटस्पॉट के तौर पर चिन्हित किए गए हैं। उन्होंने आगे बताया कि इन इलाकों में बैंक भी बंद रहेंगे। यहां तक कि मीडिया भी प्रतिबंधित रहेगा। अवस्थी ने साफ तौर कहा कि पूरे जिले को सील नहीं किया जा रहा है। 
यूपी सरकार ने हॉटस्पॉट वाली जगहों की जानकारी दी। इसके साथ ही मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। जो लोग मास्क नहीं पहनेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
कोरोना के संक्रमण और 15 जिलों के बारे में यूपी सरकार ने प्रेसवार्ता के माध्यम से बताया कि राशन और मेडिकल सप्लाई की कमी नहीं होने दी जाएगी। इसके साथ ही किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं हैं। सरकार इन इलाकों में रहने वाले लोगों को घर पर सामान डिलीवरी करेगी। अपर मुख्य सचिव गृह और डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने बताया कि लाउडस्पीकर से लोगों को जागरूक किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के 15 जिले के हॉट स्पॉट होंगे सील

यूपी में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों की हॉटस्पॉट वाली जगहों को रात 12 बजे से सील करने का निर्णय लिया है। इन जिलों में उन जगहों पर सख्ती ज्यादा रखी जाएगी जहां पर कोरोना से संक्रमित मरीज मिले हैं। जिलों की इन जगहों को सील करने की रणनीति किस प्रकार होगी इस बात का निर्णय सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक में लिया जाएगा। इसके साथ ही मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने यह साफ कर दिया है कि उन जगहों पर किसी भी प्रकार की लापरवाही स्वीकार नहीं की जाएगी जहां पर ऐसे मरीज मिले हैं। उन्होंने आगरा का उदाहरण दिया और बताया कि जिन जगहों को पूरी तरह से सील किया गया है वहां ऐसे मरीजों की संख्या में इजाफे को रोकने में कामयाबी हासिल हुई है।

Post a comment

0 Comments