अरुणाचल प्रदेश में सुरक्षाबलों के कुल 167 जवान कोरोना पॉजिटिव

अरुणाचल प्रदेश में सुरक्षाबलों के कुल 167 जवान कोरोना पॉजिटिव Image Source : PTI

ईटानगर: अरुणाचल प्रदेश सरकार ने बुधवार को बताया कि राज्य में अभी तक विभिन्न सुरक्षा बलों और पुलिस के 167 जवानों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। राज्य के स्वास्थ्य सचिव पी पार्थिबन ने बताया कि इन 167 में से भारत तिब्बत सीमा पुलिस के 54, सेना और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 32-32, सीमा सड़क कार्य बल के 16 जवान शामिल हैं। 

उन्होंने बताया कि इनके अलावा राज्य पुलिस के 31 और असम राइफल्स के दो जवान भी कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। राज्य में राष्ट्रीय आपदा मोचल बल के 53 कर्मी भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। सचिव ने बताया कि जिन लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है उनमें से ज्यादार दूसरे राज्यों से अरुणाचल प्रदेश आए हैं।

वहीं, आपको बता दें कि बुधवार को अरुणाचल प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 68 नए मामले सामने आए हैं और इसी के साथ राज्य में संक्रमण के मामले बढ़कर 858 हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। 

उन्होंने बताया कि सामने आए 68 नए मामलों में से 57 मामले कैपिटल कॉम्प्लेक्स, छह मामले लोअर सुबानसिरि, तीन नामसाई से और एक-एक मामले पापुम पारे और लोअर दिबांग घाटी जिलों से सामने आए हैं। 

राज्य सतर्कता अधिकारी (एसएसओ) एल जांपा ने बताया कि कैपिटल कॉम्प्लेक्स के अंतर्गत ईटानगर, नाहरलागुन, निर्जुली और बांदरदेवा में मंगलवार को अनेक स्थानों में रैपिड एंटीजन परीक्षण के दौरान नए मामले सामने आए, जबकि लोअर सुबानसिरि जिले में कुल छह मामलों में से दो मामले बाहर से लौटे लोगों से जुड़े हैं और वे पृथक-वास केंद्र में रह रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पापुम पारे जिले में सामने आए नए मामले पृथक केन्द्र के बाहर के हैं जबकि नामसाई के तीन लोग अन्य राज्यों से लौटे हैं और उनमें संक्रमण का पता संस्थागत पृथक-वास केन्द्रों में चला। राज्य की राजधानी में संक्रमण के मामले बढ़कर 347 पर पहुंच गए हैं और यहां तीन अगस्त तक पूरी तरह से लॉकडाउन है।

राज्य में 552 लोगों का संक्रमण का इलाज चल रहा है, 303 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं और तीन लोगों की संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है।



from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/3juJVAr

Post a comment

0 Comments