राजस्थान में सियासी संकट पर सुमित्रा महाजन का बयान, राजनीति में युवा नेतृत्व की उपेक्षा नहीं होनी चाहिये

Former Lok Sabha speaker Sumitra Mahajan on Sachin Pilot and Rajasthan political crisis Image Source : PTI

इंदौर: राजस्थान में जारी सियासी संकट की पृष्ठभूमि में पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि राजनीति में युवा नेतृत्व की उपेक्षा नहीं होनी चाहिये और भाजपा ने इस विषय में सोचना शुरू कर दिया है। राजस्थान के राजनीतिक संकट से जुड़े सवाल पर महाजन ने संवाददाताओं से कहा, "राजस्थान में उनकी (वहां सत्तारूढ़ कांग्रेस की) अंदरूनी लड़ाई चल रही है, लेकिन यह सोचने का समय आ गया है कि (राजनीति में) युवा नेतृत्व की उपेक्षा भी नहीं की जानी चाहिये और भाजपा ने यह सोचना शुरू कर दिया है कि युवाओं की अनदेखी नहीं होनी चाहिये।"

चुनावी सियासत से संन्यास ले चुकीं 77 वर्षीय भाजपा नेता ने कहा, "राजनीति में युवाओं को भी अपनी काबिलियत दिखाने का पूरा मौका मिलना चाहिये।" हालांकि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष ने राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस के राजनीतिक संकट पर यह कहते हुए सीधी टिप्पणी से इंकार कर दिया कि कांग्रेस का संगठन अपनी आंतरिक दिक्कतों पर खुद ध्यान दे।

मीडिया से बातचीत से पहले, महाजन ने इंदौर जिले की सांवेर विधानसभा क्षेत्र के आगामी उप चुनावों के मद्देनजर भाजपा के ‘हर-हर मोदी, घर-घर तुलसी’ अभियान की शुरूआत की। इसके तहत भाजपा के कार्यकर्ता इस क्षेत्र में लोगों के घर-घर जाकर उन्हें केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी दे रहे हैं और उन्हें तुलसी का पौधा भेंट कर रहे हैं।

बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने सचिन पायलट के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें राजस्थान के उपमुख्यमंत्री पद तथा राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से हटा दिया है। कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इसका ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें

राजस्थान संकट: BJP ने कहा, विधायकों की गिनती का स्थान सड़कों पर नहीं सदन में
होटल पहुंचे कांग्रेस MLA, पायलट के संपर्क में कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व
अशोक गहलोत का दावा गलत, विधायकों की पूरी संख्या उनके साथ नहीं: सूत्र

सचिन पायलट के अलावा उनका साथ देने वाले सभी विधायकों और मंत्रियों के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है। हालांकि सचिन पायलट को अभी उपमुख्यमंत्री पद और पार्टी अध्यक्ष पद से हटाया गया है, लेकिन कांग्रेस पार्टी से उनकी सदस्यता रद्द नहीं की गई है। सचिन पायलट के साथ रमेश मीणा तथा विश्वेंद्र सिंह को भी मंत्री पद से हटा दिया गया है। 

रणदीप सुरजेवाला ने घोषणा करते हुए बताया कि सचिन पायलट की जगह अब राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह को राजस्थान कांग्रेस कमेटी का नया अध्यक्ष बनाया गया है। इसके अलावा युवा विधायक गणेश गोगरा को राजस्थान प्रांत युवा कांग्रेस का नया अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा हुई है तथा हेम सिंह शेखावत को राजस्थान प्रदेश सेवादल का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। 



from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/3evQU8q

Post a comment

0 Comments