पाकिस्तानी एयरस्पेस में नहीं घुसेगा Rafale, 1000 किलोमीटर की रफ्तार से भरेगा उड़ान

Rafale fighter jets will not use Pakastani airspace on way to Ambala Air base Image Source : FILE

नई दिल्ली: फ्रांस से भारत आ रहे दुनिया के अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल जेट आज अंबाला एयरबेस पहुंच रहे हैं। UAE से भारत आने के दौरान राफेल विमान को हवा में ही एक बार फिर रिफ्यूल किया जाएगा। भारत आने के दौरान ये विमान 1000 किलोमीटर की रफ्तार से उड़ान भरेंगे और पाकिस्तानी एयरस्पेस का इस्तेमाल नहीं करेंगे। बताया जा रहा है कि ये विमान अंबाला में ही लैंड होंगे।

इस दौरान अंबाला एयरबेस पर फ्रेंच एम्बेसी के भी अधिकारी मौजूद रहेंगे और स्वागत करने के लिए भारतीय वायुसेना के साथ रहेंगे। साथ में टेक्निकल सपोर्ट सिस्टम और स्टाफ़ फ़्रान्स से जो आया है वो भी मौजूद रहेगा।

बता दें कि भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर.के.एस. भदौरिया अंबाला एयरबेस पर पांच राफेल लड़ाकू विमान ग्रहण करेंगे और स्वागत करेंगे। जेट विमानों ने सोमवार को फ्रांसीसी शहर बोडरे में मेरिनैक एयर बेस से उड़ान भरी थी।

बेड़े में तीन सिंगल सीटर और दो जुड़वा सीट वाले विमान शामिल हैं। इन्हें भारतीय वायुसेना में इसके 17वें स्क्वाड्रन के हिस्से के रूप में शामिल किया जाएगा, जिसे अंबाला एयर बेस पर 'गोल्डन एरो' के रूप में भी जाना जाता है।

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ जारी गतिरोध के बीच राफेल मौजूदा परि²श्य में भारत के लिए एक गेम चेंजर होगा। कहा जा रहा है कि यह भारत की वायुशक्ति को कई गुना बढ़ा देगा। राफेल 4.5 जेनरेशन का विमान है और इसमें नवीनतम हथियार व बेहतरीन सेंसर लगे हैं।



from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/30U0NIg

Post a comment

0 Comments