विकास दुबे केस की जांच के लिए SIT का गठन, 31 जुलाई तक देनी होगी रिपोर्ट

vikas dubey encounter case SIT probe   Image Source : PTI

लखनऊ। कानपुर विकास दुबे घटना की जांच के लिए एसआईटी टीम का गठन किया गया है। अपर मुख्य सचिव संजय भुसरेड्डी की अध्य्क्षता में टीम का गठन किया गया है। अपर पुलिस महानिदेशक हरिराम शर्मा और पुलिस उपमहानिरीक्षक जे रविन्द्र गौड़ को भी सदस्य के तौर पर टीम में रखा गया है। 31 जुलाई तक जांच पूरी करके एसआईटी टीम जांच रिपोर्ट शासन को सौंपेंगी। SIT विकास दुबे से जुड़े सभी मामलों की पड़ताल करेगी। विकास दुबे के खिलाफ मिली शिकायतों पर हुआ एक्शन भी जांच के दायरे में रहेगा। 

कानपुर के चौबेपुर थाना के बिकरु गांव में 2-3 जुलाई की रात गैंगस्टर विकास दुबे और उसके गैंग ने 8 पुलिसवालों की हत्या कर दी थी। कानपुर के बिकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की जघन्य हत्या के बाद से फरार अपराधी विकास दुबे को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है। 

बता दें कि, कानपुर शूटआउट का मुख्य आरोपी और 5 लाख का इनामी विकास को 9 जुलाई को उज्जैन में महाकाल मंदिर में गार्ड ने पकड़ा लिया था। यहां पुलिस ने हिरासत में लेकर उससे 8 घंटे तक पूछताछ की थी। यूपी एसटीएफ अधिकारी विकास को लेकर सड़क के रास्‍ते कानपुर आ रहे थे।

पुलिस के मुताबिक, शहर से करीब 17 किलोमीटर पहले शुक्रवार सुबह साढ़े छह बजे अचानक एक गाड़ी पलट गई जिसमें विकास दुबे था। कई अधिकारी चोटिल हो गए। मौका देखकर विकास दुबे ने एक अधिकारी की पिस्‍टल छीनी और भागने लगा। पीछे आ रही गाड़ी में बैठे पुलिसवालों ने उसका पीछा किया तो विकास गोलियां चलाने लगा। चार पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायरिंग की जिसमें विकास दुबे बुरी तरह घायल हो गया। उसे हैलट अस्‍पताल ले जाया गया जहां डॉक्‍टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्‍टमॉर्टम और जरूरी कानूनी कार्रवाई के बाद शुक्रवार शाम तक उसका अंतिम संस्‍कार कर दिया गया।



from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/2DxJ3dO

Post a comment

0 Comments