30 आईपीएस अफसरों को मिला प्रमोशन:30 IPS officers get promotion

भारतीय पुलिस सेवा के 30 अधिकारियों को शासन ने प्रोन्नति दे दी है। इनमें 1996 बैच के 7 आईपीएस अधिकारियों को आईजी से एडीजी की रैंक में, 2003 बैच के 6 आईपीएस अधिकारियों को डीआईजी से आईजी की रैंक में और 2007 बैच के 8 अफसरों को एसएसपी से डीआईजी की रैंक में प्रमोशन दिया गया है। 

2008 बैच के 9 अफसरों को सेलेक्शन ग्रेड दिया गया है।

1996 बैच के अफसरों के प्रमोशन को लेकर देर रात तक जद्दोजहद चलती रही। क्योंकि केंद्र ने पूर्व में चार ही रिक्तियां एडीजी के पद के लिए भेजी थी। जबकि इस बैच के प्रदेश में उपलब्ध अफसरों की संख्या 7 थी। शासन की मंशा थी कि सभी का प्रमोशन किया जाए। 

केंद्र से तीन अस्थायी पद मांगे गए थे, जिसे देर शाम केंद्र ने स्वीकार कर लिया। इसके बाद 1996 बैच के सभी अफसरों के प्रमोशन का रास्ता साफ हो गया।

1996 बैच के जिन अफसरों को प्रमोशन मिला है उसमें आगरा रेंज के आईजी ए सतीश गणेश, आईजी कानून व्यवस्था ज्योति नारायण, पुलिस मुख्यालय में आईजी बजट नवनीत सिकेरा, आईजी फायर सर्विस विजय प्रकाश, आईजी वाराणसी रेंज विजय सिंह मीणा, डीजीपी मुख्यालय में तैनात आईजी एन रविंदर और एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश अब एडीजी के पद पर प्रमोट कर दिए गए हैं।

ये डीआईजी बने आईजी

2003 बैच के राजेश मोदक, विनय कुमार यादव, हीरालाल, शिव शंकर सिंह, राकेश सिंह और राजेश कुमार पांडे डीआईजी से आईजी बन गए हैं। इस बैच के तीन अफसरों को लिफाफा बंद होने से प्रमोशन नहीं मिल सका। इसमें निलंबित डीआईजी अरविंद सेन और दिनेश चंद्र दुबे के अलावा संजय कुमार शामिल हैं।

ये बने डीआईजी

2007 बैच के वाराणसी के एसएसपी अमित पाठक, कुशीनगर के एसपी विनोद कुमार सिंह, गोरखपुर के एसएसपी जोगिंदर कुमार, महिला पावर लाइन में तैनात रवि शंकर छवि, तकनीकी सेवा में तैनात  प्रतिभा अंबेडकर, नोएडा कमिश्नरेट में तैनात नितिन तिवारी, ईओडब्ल्यू में तैनात अशोक कुमार थर्ड और एससीआरबी में तैनात अनिल कुमार सिंह एसएसपी से डीआईजी बन गए हैं। इस बैच के पंकज कुमार, गोपेश नाथ खन्ना का लिफाफा बंद होने से प्रमोशन नहीं मिला।

इन्हें मिला सेलेक्शन ग्रेड

2008 बैच के सुरेश राव आनंद कुलकर्णी, अमित वर्मा, भारती सिंह, विपिन कुमार मिश्रा, माधव प्रसाद वर्मा, सभा राज, स्वामी प्रसाद और सौमित्र यादव को सेलेक्शन ग्रेड दिया गया है। इस बैच के एन कोलांची को लिफाफा बंद होने से सेलेक्शन ग्रेड नहीं दिया गया है। प्रमोशन पाए अफसरों को जल्द ही नए पदों पर तैनात किया जाएगा।


Post a comment

0 Comments