डॉक्टर ने पेट में तौलिया छोड़ा, 77 दिन तक प्रसूता के पेट में पड़ा रहा: Uttar Pradesh latest news

कानपुर में कल्याणपुर के एक नर्सिंग होम में महिला डॉक्टर ने सिजेरियन डिलीवरी कराकर शिशु को तो निकाल लिया लेकिन तौलिये की तरह का एक सर्जिकल पैड प्रसूता के पेट में ही छोड़ दिया। यह सर्जिकल पैड 77 दिन तक प्रसूता के पेट में पड़ा रहा, जिससे उसका दर्द बढ़ता गया और हालत बिगड़ गई।



रविवार को प्रसूता के पेट से तौलिया निकाला गया। इसकी शिकायत डीएम और सीएमओ से भी की गई है लेकिन अभी तक किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। न्यू आजाद नगर के रहने वाले हितेश वाजपेयी की पत्नी राबी (30) की डिलीवरी 17 अक्तूबर को बगिया क्रॉसिंग, कल्याणपुर स्थित एक नर्सिंग होम में हुई थी।

डिलीवरी के बाद 10 दिन तक जब दर्द बना रहा तो वह अस्पताल गए और पूरी स्थिति बताई। इस पर अल्ट्रासाउंड कराने के लिए कहा गया। वाजपेयी ने क्षेत्र के ही एक सेंटर पर अल्ट्रासाउंड कराया तो बताया गया कि पेट में बड़ा सा खून का थक्का जम गया है।

इसके साथ ही सर्जरी के दौरान तौलिया छूट जाने का शक भी जाहिर किया गया। इस पर वाजपेयी ने डीएम, सीएमओ और एसएसपी के यहां शिकायत की। व्हॉट्सएप पर भेजे गए मैसेज पर सीएमओ ने राबी को हैलट ले जाने की सलाह दी। इसी बीच राबी की हालत बिगड़ने लगी।

वाजपेयी ने बताया कि वह राबी को आर्यन हॉस्पिटल ले गए। यहां लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. संदेश कटियार की टीम ने सर्जरी कर तौलिया निकाला। उन्होंने बताया कि मामले की शिकायत फिर सीएमओ से की गई है। अस्पताल संचालक और सिजेरियन डिलीवरी कराने वाली महिला डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई।

Post a comment

0 Comments